Search Engine Kya Hai – जानें सर्च इंजन कैसे काम करता है ?
1 min read

Search Engine Kya Hai – जानें सर्च इंजन कैसे काम करता है ?

हेलो दोस्तों |🙋‍♂️ अगर आप ने अभी तक हमारी पिछली पोस्ट SEO Kya hai नहीं पढ़ी है तो जल्दी से पहले उसको भी पढ़ले क्योंकि SEO सीखने से पहले हमें Search Engine के बारे पता होना चाहिए। आपने कभी सोचा है कि जब आप इंटरनेट पर कुछ सर्च करते हैं, तो वो सब कैसे मिलता है ? आपका जवाब है – सर्च इंजन ! आज हम आपको बताएंगे इस ब्लॉग पोस्ट में What is Search Engine in HindiSearch Engine Kya haiSearch Engine कैसे काम करता है , Search Engine का इतिहास, Search Engine के प्रकारSearch Engine का लाभ ये सब समझाने की पूरी कोशिश करेंगे।😇

सर्च इंजन क्या है – Search Engine Kya Hai ?

सर्च इंजन एक ऐसा टूल है जो आपको इंटरनेट पर किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने में मदद करता है। ये एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम (Software Program) होता है जो वेबसाइटों को स्कैन करता है और आपके खोजे गये प्रश्नों के हिसाब से आपको परिणाम दिखाता है।

सर्च इंजन एक डिजिटल टूल है जो इंटरनेट पर मौजुद जानकारी को ढूंढकर प्रसारित करता है। ये वेबसाइटों, लेख, चित्र, वीडियो, और भी कई प्रकार के कंटेंट को इंडेक्स करते हैं, ताकि जब भी कोई यूजर कुछ ढूंढना चाहता है, तो उसको सही जवाब मिल सके।

गूगल, बिंग, याहू और डकडकगो जैसे प्रसिद्ध सर्च इंजन हैं। इनका काम होता है इंटरनेट पर उपलब्ध अरबों से भी अधिक वेब पेजों को स्कैन करना और फिर हमें जानकारी प्राप्त करना, उपयोगकर्ताओं के लिए सुलभ बनाना।

सर्च इंजन कैसे काम करता है – How Search Engines Work?

सर्च इंजन कैसे काम करता है – यह प्रश्न आजकल बहुत से लोगों के मन में आता है, क्योंकि आपकी वेबसाइट को गूगल जैसे सर्च इंजन पर उच्च रैंक दिलाना अत्यंत महत्वपूर्ण हो सकता है। इसलिए, आपको समझना आवश्यक है कि सर्च इंजन कैसे काम करता है और आपकी वेबसाइट को उच्च रैंक प्राप्त करने के लिए क्या कार्यवाही की जानी चाहिए।

सर्च इंजन का काम : – सर्च इंजन का काम होता है वेब पर मौजूद सभी जानकारी को खोजना और उपयोगकर्ताओं को उनके खोज के आधार पर सबसे उपयुक्त और संबंधित परिणाम प्रदान करना।

जब आप किसी सर्च इंजन पर कुछ खोजते हैं, तो इसमें कई चरण होते हैं :-

वेब पेजों की क्रॉलिंग (Crawling) :-

सर्च इंजन एक बड़ी डेटाबेस (Database) का निर्माण करता है, जिसमें वेब पेजों की कॉपियां रखी जाती हैं। इसके लिए सर्च इंजन वेब पेजों को क्रॉल करता है, जिसका मतलब है कि वह वेबसाइट के हर वेब पेज को चेक करता है और उसकी जानकारी को अपने डेटाबेस में जोड़ता है। वेब पेज को क्रॉल Search Engine के ही अपने बनाये हुए बोट(Boat) या फिर कहें क्रॉलर(Crawler) होते है ताकि बहुत सारे वेब पेज बस कुछ ही समय में सर्च इंजन को उस वेब पेज की जानकारी देदें या फिर जो कुछ भी उस वेब पेज मैं है सर्च इंजन उसको जान सके।

इंडेक्सिंग (Indexing) :-

इंडेक्सिंग एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो सर्च इंजन के साथ जुड़ी होती है। इस प्रक्रिया में सर्च इंजन वेब पेजों की सामग्री को सूचीबद्ध करता है और उसे अपने डेटाबेस में जोड़ता है। इसका मतलब है कि सर्च इंजन वेब पेजों की सामग्री को समझ सकता है और उपयोगकर्ताओं(Users) को उसके साथ जवाब प्रदान कर सकता है।

जब क्रॉलर वेब पेजों की क्रॉलिंग करते हैं, वे हर पृष्ठ की सामग्री को स्कैन करते हैं, जैसे कि टेक्स्ट, इमेजेस, और लिंक्स। फिर इस सामग्री को सर्च इंजन के नियमों के अनुसार सुनिश्चित तरीके से इंडेक्स किया जाता है।

जब उपयोगकर्ता किसी सर्च क्वेरी को टाइप करता है, तो सर्च इंजन अपने इंडेक्स में शामिल की गई सामग्री के आधार पर सबसे मेल खाने वाले परिणाम प्रदान करता है। इंडेक्सिंग की यह प्रक्रिया होती है जिसके बिना सर्च इंजन उपयोगकर्ताओं को उचित जवाब प्रदान करने में कठिनाइयाँ हो सकती हैं।

खोज करना और प्रदान करना (Ranking and Retrieval) :-

जब आप कुछ खोजते हैं, तो सर्च इंजन आपकी खोज को अपने डेटाबेस से मेल करता है और सबसे उपयुक्त परिणाम प्रदान करता है। इस प्रक्रिया में वह कई मामूली और महत्वपूर्ण तकनीकों का उपयोग करता है। जैसे कि खोज कीवर्ड्स, सामग्री की गुणवत्ता, और अन्य संकेतक।

सर्च इंजन का इतिहास – History Of Search Engine 

सर्च इंजन का इतिहास डिजिटल युग का एक महत्वपूर्ण चरण है। सर्च इंजन्स का पहला प्रयोग इंटरनेट की शुरुआती दशकों में हुआ था। 1990 के दशक में, Archie, जो केटेलोग बनाने के लिए बनाया गया था। इसके बाद, विभिन्न सर्च इंजन्स जैसे कि AltaVista, Lycos, और Yahoo! आए, जो वेब पेजो को खोजने के लिए प्रयुक्त हुए।

फिर 1998 में Google का आगमन हुआ, जिसने सर्च इंजन्स की दुनिया को पूरी तरह से बदल दिया। गूगल ने वेब पर जानकारी ढूंढने को सरल और तेज बना दिया और इससे यह दुनिया का सबसे प्रसिद्ध सर्च इंजन बन गया।

सर्च इंजन के विकास के साथ-साथ सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिससे वेबसाइटों को अधिक दिखने के लिए बेहतर तैयार किया जा सकता है। समय के साथ, सर्च इंजन्स का विकास और भी बढ़ गया है, और मोबाइल सर्च और वॉयस सर्च के आगमन ने सर्च इंजन्स को और भी अधिक उपयोगी बना दिया है।

आज, सर्च इंजन्स जानकारी का महत्वपूर्ण स्रोत हैं और हमें जानकार उपलब्ध कराते हैं और हमारे सवालों के उत्तर देते हैं। सर्च इंजन्स का भविष्य भी बहुत उज्ज्वल है, और यह और भी सुविधाओं के साथ आएंगे।

सर्च इंजन के प्रकार – Types Of Search Engines.

सर्च इंजन डिजिटल युग में जानकारी की खोज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इन सर्च इंजनों की विशेषता और कार्यक्षेत्रों के आधार पर, वे निम्नलिखित प्रकारों में आते हैं:

  1. विशेषता के आधार पर (Based on Specialty) :
    • सामान्य सर्च इंजन (General Search Engine) :- इन सर्च इंजन्स ने विशाल वेबसाइटों और वेब पृष्ठों का खोजने में मदद करते हैं, जैसे कि गूगल और बिंग।
    • समाज में सर्च इंजन (Search Engine in Society) :- ये सर्च इंजन्स सोशल मीडिया साइट्स पर खोजने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं, जैसे कि फेसबुक की ग्राफ़ सर्च।
  2. उपयोगकर्ता के आधार पर (Depending on the User) :
    • जनसंख्या सर्च इंजन (Population Search Engine) :- इन सर्च इंजन्स ने उपयोगकर्ता की सुझावों और विचारों के आधार पर खोज करने में मदद करते हैं, जैसे कि यूज़र्सेन्स और क्वोरा।
    • व्यक्तिगत सर्च इंजन (Personal Search Engine) :- इन सर्च इंजन्स ने उपयोगकर्ता की व्यक्तिगत प्राथमिकताओं के आधार पर खोजने के लिए तैयार किए गए हैं, जैसे कि गूगल कस्टम सर्च।
  3. विशेष क्षेत्र के आधार पर (Based on Specific Area) :
    • लॉकल सर्च इंजन (Local Search Engine) :- ये सर्च इंजन जगह के आधार पर खोजने के लिए बनाए गए हैं, जैसे कि Google Maps और Yelp।
    • वीडियो सर्च इंजन (Video Search Engine) :- इन सर्च इंजन्स ने वीडियो कंटेंट को खोजने के लिए विशेषता किया है, जैसे कि YouTube.
  4. स्वाधीनता के आधार पर (Based on Independence) :
    • खोज इंजन (Search Engine) :- ये सर्च इंजन्स खुद की डेटाबेस में से जानकारी खोजते हैं, जैसे कि DuckDuckGo, जो प्राइवेसी की समर्थना करता है।

ये हैं कुछ महत्वपूर्ण सर्च इंजन के प्रकार, जो विभिन्न आवश्यकताओं और उपयोगकर्ता की पसंद के आधार पर उपलब्ध हैं। हर एक सर्च इंजन का अपना विशिष्ट उद्देश्य और उपयोग होता है, जो उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट पर जानकारी की खोज में मदद करता है।

मुख सर्च इंजन के नाम – Popular Search Engines

मुख्य सर्च इंजनों के नाम – सर्च इंजन सूची

  1. गूगल (Google) :- गूगल सर्च इंजन दुनिया का सबसे पॉप्युलर सर्च इंजन है और अधिकांश लोग इसका उपयोग करते हैं।
  2. याहू (Yahoo) :- याहू सर्च इंजन एक और प्रमुख सर्च इंजन है, जो खोजने के लिए उपलब्ध है।
  3. बिंग (Bing) :- बिंग, माइक्रोसॉफ्ट का सर्च इंजन है, जो वेब पर खोजने में मदद करता है।
  4. डकडकगो (DuckDuckGo): डकडकगो एक प्राइवेसी केंद्रित सर्च इंजन है, जो उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता का समर्थन करता है।
  5. ड़गोपाल (Dagopal): ड़गोपाल एक भारतीय सर्च इंजन है, जो भारतीय भाषाओं में खोज करने में मदद करता है।
  6. यैंडेक्स (Yandex): यैंडेक्स एक रूसी सर्च इंजन है, जो रूसी और अन्य भाषाओं में खोजने के लिए उपयोग में आता है।
  7. ड़क़ड़ी इंटरनेट: (Dakdi Internet) ड़क़ड़ी इंटरनेट एक अनूठा सर्च इंजन है, जो विशेष और अच्छे जानकारी की खोज के लिए विशेष रूप से विकसित किया गया है।

ये कुछ प्रमुख सर्च इंजन हैं, जो विभिन्न आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं के आधार पर उपयोगकर्ताओं को वेब पर जानकारी की खोज में मदद करते हैं।

इंडियन सर्च इंजन नाम

भारतीय सर्च इंजन के नाम

  1. ड़गोपाल (Dagopal): ड़गोपाल एक प्रमुख भारतीय सर्च इंजन है जो भारतीय भाषाओं में खोजने के लिए उपयोग किया जाता है।
  2. शोडोमैक्स (Showdomax): शोडोमैक्स एक और भारतीय सर्च इंजन है जो भाषाओं के बारे में विशेषज्ञता रखता है और उपयोगकर्ताओं को विभिन्न भाषाओं में जानकारी प्रदान करता है।
  3. स्वराज्यमाग (Swarajyamag): स्वराज्यमाग भारत का एक अच्छा सर्च इंजन है जो वेब पर खोज करने में मदद करता है और भारतीय उपयोगकर्ताओं के लिए उपयोगकर्ता बनाता है।

ये कुछ प्रमुख भारतीय सर्च इंजन हैं, जो भारतीय उपयोगकर्ताओं को वेब पर जानकारी खोजने के लिए सेवाएं प्रदान करते हैं।

 

हमारे इस Search Engine Kya Hai – Blog को पढ़ने के लिए धन्यवाद अगर आपको हमारा ये ब्लॉग पसंद आया हो तो Comment Section मै बताएं। और आने वाले समय मैं हम Search Engine से रिलेटेड और भी BLOG पोस्ट अपनी इस ब्लॉग website में पोस्ट करेंगे।

 

 

Search Engine FAQ’s In Hindi :-

 

सर्च इंजन क्या होता है समझाइए ?

सर्च इंजन एक डिजिटल टूल है जो इंटरनेट पर मौजुद जानकारी को ढूंढकर प्रसारित करता है। ये वेबसाइटों, लेख, चित्र, वीडियो, और भी कई प्रकार के कंटेंट को इंडेक्स करते हैं, ताकि जब भी कोई यूजर कुछ ढूंढना चाहता है, तो उसको सही जवाब मिल सके। गूगल, बिंग, याहू और डकडकगो जैसे प्रसिद्ध सर्च इंजन हैं। इनका काम होता है इंटरनेट पर उपलब्ध अरबों से भी अधिक वेब पेजों को स्कैन करना और फिर हमें जानकारी प्रदान करना,

सर्च इंजन क्या है इसके प्रकार?

सर्च इंजन एक ऐसा टूल है जो आपको इंटरनेट पर किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने में मदद करता है। ये एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम (Software Program) होता है जो वेबसाइटों को स्कैन करता है और आपके खोजे गये प्रश्नों के हिसाब से आपको परिणाम दिखाता है। Ex - Google, Bing, Yahoo, Baidu etc..

भारत का पहला सर्च इंजन कौन सा है?

भारत का पहला सर्च इंजन "Cricinfo" था, जो क्रिकेट से संबंधित जानकारी प्रदान करता था। इसे 1996 में शुरू किया गया था और यह एक मुख्य खिलाड़ियों, टीमों, मैचों, स्कोर्स, और क्रिकेट से जुड़ी अन्य जानकारी प्रदान करता था। Cricinfo ने भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के बीच में अपनी महत्वपूर्ण जगह बनाई और भारतीय खिलाड़ियों के स्टैटिस्टिक्स और खबरों को उनके पास पहुंचाने का काम किया।

दुनिया का पहला सर्च इंजन कौन सा था ?

दुनिया का पहला सर्च इंजन "Archie" था, जो 1990 में विकसित किया गया था। Archie एक साधारण सर्च इंजन था जो टेक्स्ट फ़ाइल्स के लिए खोज करता था और उन्हें इंटरनेट पर उपलब्ध करता था। इसका उपयोग इंटरनेट पर जानकारी की खोज के लिए किया जाता था, लेकिन यह आजकल के मॉडर्न सर्च इंजन्स के मुकाबले प्रासंगिकता में कमी थी।

दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन कौन सा है ?

दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन और पिछले कुछ दशकों से भी एक शक्तिशाली तरीके से वेब पेज्स को खोजने और प्रदान करने का काम करने वाला सर्च इंजन "Google" है। Google दुनिया भर में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला सर्च इंजन है और यह वेब पेज्स की विस्तृत और व्यक्तिगत खोज परिणाम प्रदान करने के लिए जाना जाता है। Google ने अपने उपयोगकर्ताओं को उच्च गुणवत्ता वाली खोजने की अनुभव प्रदान करने के लिए नवाचार और AI (Artificial Intelligence) का प्रयोग किया है जिससे खोज परिणाम और उपयोगकर्ता अनुभव में सुधार किया जा सकता है।

सर्च इंजन किस तरह से वेबसाइटों को रैंक करते हैं?

सर्च इंजन एल्गोरिदम का उपयोग करके वेबसाइटों को रैंक किया जाता है, जो कारक जैसे सामग्री की गुणवत्ता, कीवर्ड और बैकलिंक्स पर आधारित होते हैं।

क्या हर सर्च इंजन अलग-अलग होता है?

हां, हर सर्च इंजन अलग-अलग होता है और उनके एल्गोरिदम में भी फर्क होता है। लेकिन उनका मुख्य उदेश्य उपयोगकर्ता को प्रासंगिक जानकारी देने का होता है।

सर्च इंजन में किस तरह के बदलाव आ रहे हैं?

आज कल सर्च इंजन एआई और मशीन लर्निंग का उपयोग करके सटीक और व्यक्तिगत परिणाम देने में काम लगाया जा रहा है।

2 thoughts on “Search Engine Kya Hai – जानें सर्च इंजन कैसे काम करता है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *